News Ticker

Menu

Followers

केवलादेव नेशनल पार्क है खूबसूरत पक्षियों और नेचर का बेहतरीन ठिकाना

आप नेचर के साथ ही अगर पशु पक्षियों से प्रेम करते हैं तो आपके घूमने के लिए केवलादेव नेशनल पार्क शानदार जगह हो सकती है। राजस्थान के भरतपुर शहर के बाहरी इलाके में स्थित इस पार्क को विश्व धरोहर स्थल का दर्जा मिला है। पक्षी विहार का निर्माण 250 वर्ष पहले किया गया था और इसका नाम केवलादेव (शिव) मंदिर के नाम पर रखा गया था। यह मंदिर इसी पक्षी विहार में स्थित है। यहां हर वर्ष करीब 2 लाख पर्यटक आते है, इनमें से करीब एक तिहाई विदेशी होते हैं। यहां पर करीब 380 प्रजाति के पक्षी देखे जा सकते हैं। इसमें दुर्लभ व विलुप्त जाति के पक्षी पाए जाते हैं। पार्क में बबूल और कदम के पेड़ों पर पक्षी आशियाना बनाते हैं। सर्दी के मौसम में यहां साइबेरिया और मध्य एशिया से प्रवासी पक्षी आते हैं।
Kevaladev national park
कब जाएं: आप केवलादेव घूमने जाना चाहते हैं तो इसके लिए अक्टूबर से फरवरी तक के महीने सबसे बेहतर हैं। इस समय यहां पर कई प्रकार के प्रवासी पक्षी डेरा डाल चुके होते हैं।
ये पक्षी मिलेंगे
Know Indian History

यहां पर आपको सारस, पेलिकन, हंस, बत्तख, ईगल, वेगटेल्स सहित सैकड़ों प्रवासी और स्थानीय पक्षी देखने को मिल सकते हैं। पहले यहां पर साइबेरियन सारस भी आता था, लेकिन पिछले कुछ सालों से वह यहां नहीं देखा गया है। पक्षियों के अलावा पर्यटक कई जानवर जैसे काला हिरण, पायथन, सांभर, हिरण और नीलगाय भी देख सकते हैं।

Share This:

Post Tags:

India Travel Guru

hi friends, India Travel Guru is a website that provide information about Indian Culture,History of India, Famous Monuments and Tourist Places and Folk dances

No Comment to " केवलादेव नेशनल पार्क है खूबसूरत पक्षियों और नेचर का बेहतरीन ठिकाना "